भारतीय मीडिया फाउंडेशन के बढ़ते ताकत से फिरका परस्त लोगोें मे बढ़ी बेचैनी– एके बिंदुसार राष्ट्रीय अध्यक्ष

वाराणसी –भारतीय मीडिया फाउंडेशन के तत्वाधान में पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं के अधिकार सम्मान सुरक्षा के सवाल पर पत्रकारिता एवं सामाजिक कार्यों की अभिव्यक्ति की दूसरी आजादी की प्रथम महा क्रांति को सफल बनाने के उद्देश्य से 23 अगस्त 2019 को लखनऊ सरोजनी नगर क्षेत्र में होटल मंगलम पैलेस में हुए महासम्मेलन की सफलता से तमाम फिरका परस्त लोगों में बेचैनी हो गई है आपको हम बता दें कि भारतीय मीडिया फाउंडेशन सशक्त मीडिया भ्रष्टाचार मुक्त भारत सशक्त मीडिया समृद्ध भारत के नव निर्माण एवं पत्रकारिता के अभिव्यक्ति की आजादी के लिए कार्य कर रहा है ऐसे में जो भ्रष्टाचारी किस्म के लोग हैं जिन्हें इस बात का डर हो गया है कि अब एक ऐसा संगठन भी देश के अंदर सक्रिय हो गया है जो राष्ट्रवादी पत्रकार एवं समाजिक कार्यकर्ताओं को एक मंच पर संगठित करके भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने की योजना पर काम कर रहा है ऐसे फिरका परस्त लोग जो विभिन्न राजनीतिक दलों में सामाजिक संगठनों में मीडिया संगठनों में कार्यरत हैं उनकी बेचैनी बढ़ती जा रही है और वह एक ऐसे प्लानिंग के तहत इस संगठन को तोड़ने की विभिन्न विभिन्न साजिश रच रहे हैं इस सवाल पर जब भारतीय मीडिया फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री एके बिंदुसार जी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आज जिस तरह से भारतीय मीडिया फाउंडेशन से जुड़े राष्ट्रवादी पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता सड़क से लेकर शहर तक और शहर से लेकर संसद तक संघर्ष करने का संकल्प ले लिया है भ्रष्टाचार का खुलासा करते हुए देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने और समृद्ध भारत के नव निर्माण के लिए काम कर रहा है ऐसे में जो देश के आम नागरिकों की गाढ़ी कमाई को लूट लूट कर ऐसो आराम की जिंदगी जी रहे हैं उनके अंदर बेचैनी हो गई है तथा वे लोग एक साजिश के तहत इस संगठन के कई पदाधिकारियों को बरगला कर संगठन के आंदोलन को रोकने की कोशिश कर रहे हैं श्री बिंदुसार ने कहा कि लेकिन ऐसा नहीं होगा क्योंकि भारतीय मीडिया फाउंडेशन में आज ऐसे राष्ट्रवादी पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता जुड़ चुके हैं जो हर हाल में अपने उद्देश्य से भटक नहीं सकते उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपने निजी स्वार्थों में वशीभूत होकर मिशन से भटक सकते हैं और पूर्व में कुछ लोग भटके भी हैं ऐसे लोगों से सावधान रहने की आवश्यकता है जो लोग हमारे संगठन में भी सम्मिलित हो चुके हैं और वे लोग संगठन के पदाधिकारियों को बरगलाने का काम करेंगे उन्होंने कहा कि जो भी इस तरह का कार्य संगठन में रहकर करेगा प्रकरण सामने आने पर उन्हें संगठन से बाहर किया जाएगा चाहे वह किसी भी स्तर का पदाधिकारी हो उन्होंने कहा कि भारतीय मीडिया फाउंडेशन अपने मिशन से कभी पीछे नहीं हटेगा भारतीय मीडिया फाउंडेशन खरगोश की चाल नहीं बल्कि कछुए की चाल चलकर अपने उद्देश्यों के पूर्ति के लिए अपने मंजिल तक पहुंचने का काम करेगा उन्होंने कहा कि भारतीय मीडिया फाउंडेशन के पदाधिकारी इस बात पर ध्यान देंगे अगर किसी भी स्तर का पदाधिकारी संगठन में रहकर संगठन का विरोध करता है राष्ट्रीय पदाधिकारियों का विरोध करता है प्रांतीय पदाधिकारियों का विरोध करता है जिला मंडल के पदाधिकारियों का विरोध करता है या स्वयं मेरा विरोध करता है तो आप इस बात को अवश्य समझे कि वह संगठन का हितैषी व्यक्ति नहीं है उससे आपको सावधान रहना है वह संगठन का विरोधी होगा तभी संगठन की बुराई करेगा तभी संगठन के पदाधिकारियों की बुराई करेगा तभी संगठन के कार्यो का उद्देश्यों का बुराई करेगा तो आपको इस बात पर विशेष ध्यान देना है इस तरह किसी का कान भरता है चापलूसी करता है तो ऐसे लोगों से आपको सावधान रहना है क्योंकि वह संगठन में इसलिए आए होंगे कि संगठन कमजोर हो संगठन को तितर-बितर किया जाए इसलिए आप सभी राष्ट्रवादी पत्रकार बंधुओं सामाजिक कार्यकर्ताओं से समस्त पदाधिकारियों से मेरा यही अपील है कि आप ऐसे लोगों से सावधान रहें अगर कोई भी इस तरह का हरकत करता है आपके सामने बुराई करता है तो आप उसकी सूचना राष्ट्रीय कार्यालय को अवश्य भेजें |

जब हमारी बात भारतीय मीडिया फाउंडेशन के डिप्टी चेयरमैन बाबूलाल जायसवाल से हुई तो उन्होंने कहा कि आज भारतीय मीडिया फाउंडेशन का कारवां बड़े ही तेजी के साथ बढ़ रहा है देश प्रदेश में तमाम ऐसे भ्रष्टाचार विरोधी पत्रकार सामाजिक कार्यकर्ता एवं समाज का वरिष्ठ नागरिक है जो तमाम सरकारी पदों से रिटायर्ड है वह सभी साथी भारतीय मीडिया फाउंडेशन से जुड़ रहे हैं और जुड़ने की जो सिलसिला चल रही है संगठन की जो मजबूती बढ़ रही है इससे भ्रष्टाचारियों में बेचैनी तो बढ़ेगी ही और वे संगठन को तोड़ने की कोशिश करेंगे यह बात बिल्कुल राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का कहना सत्य है कि कुछ ऐसे लोग होंगे जो संगठन में घुस करके पदाधिकारी बन करके अपना निजी स्वार्थ साधने की कोशिश करेंगे जब उनका निजी स्वार्थ नहीं चलेगा तो वह संगठन की बुराई करेंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष की बुराई करेंगे तमाम राष्ट्रीय प्रांतीय पदाधिकारियों का कान भरने का काम करेंगे तो ऐसे लोगों से आपको सावधान रहना है क्योंकि आप सभी साथी गण बड़े ही मेहनत से भारतीय मीडिया फाउंडेशन की ताकत को बनाने में आप ने कामयाबी हासिल किया है और पूरे समाज में एक आपने विश्वास स्थापित किया है आज समाज का एक-एक नागरिक एक व्यक्ति आज आपकी तरफ आशा भरी निगाहों से देख रहा है और उसे उम्मीद है कि भारतीय मीडिया फाउंडेशन एक ऐसा संगठन है जो भ्रष्टाचार के खिलाफ खुलकर के सामने आएगा और पीड़ित लोगों की आवाज को शासन प्रशासन तक पहुंचा करके उनको न्याय दिलाने का काम करेगा ऐसी स्थिति में भारतीय मीडिया फाउंडेशन के समस्त पदाधिकारियों को एकजुट होकर के काम करना है अगर कोई भी संगठन में रहकर संगठन की बुराई करता है किसी भी पदाधिकारी की बुराई करता है तो उसे आप यही समझे कि वह संगठन विरोधी है क्योंकि संगठन का नियम है अगर आपको किसी पदाधिकारी से कोई तकलीफ है कोई दिक्कत है तो आप ग्रुप में किसी भी तरह का कमेंट नहीें करेंगे बल्कि आप राष्ट्रीय कमेटी के बैठक में आप अपनी बात को रखेंगे या पर्सनल राष्ट्रीय कोर कमेटी के लोगों से अपनी बात करेंगे उन्होंने कहा कि अगर राष्ट्रीय कोर कमेटी का भी कोई सदस्य अगर किसी का कान भरता है बुराई करता है उसे भी विरोधी समझें ऐसी स्थिति में संगठन की ओर से उचित कार्रवाई की जाएगी श्री जयसवाल जी ने कहा कि 2024 में भारतीय मीडिया फाउंडेशन एक महाशक्ति के रूप में उभर के सामने आएगा |

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: