एसएसपी ने हल्का दरोगा के साथ कि:बैठक

गोरखपुर (जयप्रकाश यादव)
गोरखपुर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ सुनील गुप्ता गोरखपुर की कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने लिए थानों के हल्का दरोगा के साथ कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के लिए थानों के बीट दरोगा के साथ बैठक करते हुए बताया कि अमूमन हर थाने पर चार बीट होता है हर वीट में लगभग दो या तीन हल्का प्रभारी नियुक्त रहते हैं इनके अधीनस्थ दो तीन दरोगा व चार पांच सिपाही नियुक्त रहते हैं सीधे तौर पर कहा जाए तो मिनी थाना इनके अंडर में रहता है एसएससी ने हल्का व बीट प्रभारियों को निर्देशित किया की पीड़ितों की तत्काल सुनवाई करते हुए यथा उचित कार्यवाही किया जाये। किसी भी पीड़ित को बेवजह परेशान न किया जाये क्योंकि फरियादी किसी भी समस्या का समाधान पहले हल्का दरोगा के पास जाता हैं तब थाने पर पुलिस लाइन मेस सभागार में जनपद के 25 थानों के दो- दो हल्के के एक एक दरोगा बैठक में मौजूद रहे सभी से एसएसपी ने बताया कि किसी के भी साथ भेदभाव न किया जाए।जमानत पर छूटे अपराधियों/बदमाशों तथा हिस्ट्रीशीटरों की सूची को अद्यावधि करके उन पर सतत निगरानी बनाये रखे ताकि उनकी अपराधिक गतिविधियों को चिन्हीत किया जा सके। लूट की घटना की सूचना पर तत्काल कार्यवाही कराते हुए जरिये सेट सूचना प्रसारित करना व नाका लगाकर प्रभावी ढंग से चेकिंग कराना जिससे घटनाओं पर नियंत्रण किया जा सके। आस पास साफ सफाई बृक्षारोपण हेतु सप्ताह में एक दिन नियत करके श्रमदान कराकर अपना क्षेत्र स्वस्थ रखें ।/भीड़ भाड़ क्षेत्र में गस्त लगाकर समुचित कार्यवाही कराये जिससे महिलाओं/बच्चीयों के साथ कोई अप्रिय घटना न होने पाये।हिस्ट्रीशीटरों पर नियंत्रण हेतु डोजियर तैयार कराकर रजिस्टर अध्यावधि कर लें। थाना क्षेत्र में संचालित डायल 100 रूट चार्ट तैयार कराकर डायल 100 पर नियुक्त कर्मियों से अच्छा तालमेल बैठाकर जनता की समस्याओं का सहानुभूतिपूर्वक निस्तारण करायें।

महत्वपूर्ण अभिलेखों जैसे शस्त्र रजिस्टर अपराध रजिस्टर सम्पूर्ण समाधान दिवस/थाना दिवस रजिस्टर जमीनी विवाद रजिस्टर हत्या बलवा रोकथाम रजिस्टर त्योहार रजिस्टर आगंतुक रजिस्टर ग्राम अपराध पुस्तिका बीट बुक आदि अभिलेखों में प्रविष्टियाॅ अध्यावधि कर उनका बेहतर रख रखाव करना सुनिश्चित करें।

एस एस पी ने कहा कि क्षेत्र के सम्भ्रान्त नागरिको व पत्रकार बंधु व व्यपारी बंधुओं से अच्छा व्यवहार रखें एवं पुलिसिंग में सहयोग प्राप्त करें। क्षेत्र में वाहन चेकिंग के दौरान जनता के लोगों एवं नियुक्त कर्मियों को इस बात के लिए प्रोत्साहित करें कि मोटरसाईकिल चलाते समय हेल्मेट का प्रयोग करें

Leave a Reply

%d bloggers like this: