कमला फाउंडेशन अध्यक्ष का हुआ नया पुरवा में जोरदार स्वागत , नगर पालिका परिषद को नहीं है जनता की समस्याओं से कोई सरोकार : पूनम सिंह

मुकेश शर्मा

रायबरेली (संज्ञान न्यूज़) नगर पालिका परिषद रायबरेली क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार और समस्याओं को लेकर कमला फाउंडेशन की अध्यक्ष पूनम सिंह लगातार क्षेत्र का भ्रमण कर रही है और उनके इस भृमण से अन्य राजनीतिक दलों के संभावित उम्मीदवारी की दावेदारी करने वालों के हौसले पस्त दिखाई दे रहे हैं। कमला फाउंडेशन अध्यक्ष पूनम सिंह ने नया पुरवा डिग्री चौराहे पर पहुंचकर वहां पर उपस्थित अपार भीड़ का स्वागत स्वीकार किया। इस दौरान उपस्थित महिलाओं एवं अन्य स्थानीय निवासियों ने पूनम सिंह का फूल माला और पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया। इस दौरान पुरवा के लोगों ने जल निकासी की समस्याओं को सबसे बड़ा मुद्दा बनाया और फाउंडेशन अध्यक्ष श्रीमती सिंह से इस समस्या का निजात दिलाने की भी मांग की । फाउंडेशन अध्यक्ष पूनम सिंह ने कहा कि इन दिनों नगर पालिका कुछ ऐसे लोगों के हाथों में चली गई है जिन्हें जनता की मूलभूत समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है । उन्होंने कहा कि बीते वर्षों से नगरपालिका गले तक भ्रष्टाचार में डूबी हुई है और आप सब का आशीर्वाद रहा तो इस भ्रष्टाचार को मिटा कर एक स्वस्थ नगर पालिका की नीव रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारे परिवार के लोगों ने स्वस्थ जनपद और स्वस्थ नगरपालिका की बुनियाद रखी थी ।लेकिन अब वही बुनियाद की नीव हिलने लगी है। जिसे बचाने के लिए वह आप सबके सामने हैं और आप सब का आशीर्वाद रहेगा तो अपने परिवार के बुजुर्गों की विरासत को बचाने का भरसक प्रयास किया जाएगा।

श्रीमती सिंह ने कहा कि रायबरेली शहर में उनका बचपन बीता है और आज की रायबरेली को देखकर लगता ही नहीं है कि यह वही रायबरेली जनपद है जहां पर विकास की गंगा बहती थी। श्रीमती सिंह ने कहा कि मलिन बस्तियों में जाकर देखा जाए तो वहां का हाल तो ग्रामीण इलाकों से भी बद से बदतर है ।क्योंकि वहां पर ना तो जल निकासी की कोई समस्या है ना ही सीवर लाइन की कोई सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है ।श्रीमती सिंह ने यह भी कहा कि सरकार तमाम योजनाएं लागू करके जनता को सहूलियत देना चाहती है। लेकिन जनपद के कुछ ऐसे भ्रष्टाचारी नेता हैं जो कमीशन खोरी के चलते क्षेत्र के विकास में बाधा डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन कमीशन बाज नेताओं विकृत मानसिकता का स्वरूप रायबरेली जनपद दिखाई देता है। फाउंडेशन अध्यक्ष ने एक सवाल के जवाब में कहा कि शहर की सभी सड़कें ध्वस्त पड़ी हैं ।विद्युत व्यवस्था चरमरा रही है। भीषण गर्मी में नगर पालिका द्वारा लगाए गए हैंड पंप और समरसेबल के टैंक बंद पड़ गए हैं। लेकिन इस सब से नगर पालिका परिषद का कोई भी सरोकार नहीं है। उसका एक सूत्रीय कार्यक्रम है कि किसी भी तरह जनता और कर्मचारियों का पैसा लूट कर अपनी जेबों में भरा जाए। श्रीमती सिंह ने यह भी कहा कि उनके जीते जी नगर पालिका परिषद में भ्रष्टाचार पनपने नहीं पाएगा और इस को निपटाने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समस्या को लेकर जिला स्तर से लेकर प्रदेश स्तर तक इस पर आंदोलन और प्रदर्शन की भी तैयारी की जा रही है और जनता का रुझान देखकर नगर पालिका परिषद के अंधे बहरे आला अधिकारियों को जगाने का कार्य किया जाएगा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: