गणना के दौरान दुधवा में 42 से अधिक मिले गैंडे

मनोज वर्मा,धर्मेश शुक्ला

लखीमपुर (संज्ञान न्यूज़): दुधवा टाइगर रिजर्व में गुरुवार को दूसरे दिन भी गैंडों की गणना हुई। सुबह 5.30 बजे से पूर्वाहन 11 बजे तक सात टीमों ने गणना में हिस्सा लिया। इसमें पांच टीमें गैंडा फेज-1 व दो टीमें गैंडा फेज-2 में लगाई गई थी। हाथियों पर सवार टीम के सदस्यों ने गैंडा परिक्षेत्र में भ्रमण करके गैंडों को तलाश किया और उन्हें गणना में शामिल किया। गैंडा फेज-2 में दो बच्चों सहित गैंडा परिवार के कुल छह सदस्य पाए गए हैं। इसी तरह फेज-1 में 38 से अधिक गैंडे पाए गए हैं लेकिन, इसमें कुछ छोटे बच्चे हैं जिन्हे अभी सामान्य गणना में शामिल नहीं किया जाता था लेकिन, इस गणना कार्यक्रम में सभी बच्चों की भी गिनती की गई है।

गणना के बारे में उपनिदेशक कैलाश प्रकाश ने बताया कि गैंडों की गणना का काम आज पूरा कर लिया गया गया है हालांकि बुधवार को ही अधिकांश काम निपटा लिया गया था। कुछ क्षेत्र ऐसे थे जहां पर बुधवार को टीम नहीं पहुंच सकी थी। तो वहां पर गुरुवार को जाकर देखा गया और जो गैंडे मिले उनको गणना में शामिल किया गया। उन्होंने बताया कि गणना में इस बार गैंडे के बच्चों को भी शामिल किया गया है ताकि वास्तविक संख्या पता चल सके और बाद में उनकी सही तरीके से देखभाल की जा सके। उन्होंने बताया कि सातों टीमों की गणना का डेटा एकत्र किया जा रहा है और उसे एप के माध्यम से कंपाइल करके शार्टलिस्ट किया जा रहा है। जिससे हमें गैंडों की सही जानकारी मिल सके। ऐसा भी हो सकता है कि एक ही गैंडे को दो टीमों ने देखा हो और उसे रिपोर्ट की हो। इसलिए डेटा का विश्लेषण का काम शुरू कर दिया गया है और एक दो दिन में गैंडों की सही संख्या का पता हमें चल जाएगा। अभी तक फेज-1 में 36 व फेज-2 में छह गैंडों की उपस्थिति आधिकारिक तौर पर मानी जा रही थी। गणना में द्वितीय फेज में छह गैंडे तो मिले हैं जिसमें चार वयस्क और दो बच्चे है। इसी तरह फेज-1 में 38 गैंडों के मिलने की बात बताई जा रही है, लेकिन उसकी पुष्टि नहीं की गई है। डीडी कैलाश प्रकाश ने कहा कि गैंडों की सही संख्या एक-दो दिन बाद ही मिल सकेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: