गुरबक्श गंज पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे सवालिया निशान

शैलेन्द्र गुप्ता

रायबरेली (संज्ञान न्यूज़) इन दिनों गुरबक्शगंज पुलिस कि लापरवाही से दबंगो के हौसले पूरी तरह से बुलंद हैं दबंगों के विरुद्ध 307 जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत होने के बावजूद आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं आखिर कार थक हार कर वादी ने अपनी विवेचना स्थानांतरित करवाये जाने कि मांग कि है दरअसल बुधवार को पीड़ित अनुराग यादव ने एसपी को शिकायतीपत्र देते हुए बताया कि बीती 8 मई को मनरेगा में कार्य करने के लिए मजदूर को सूचना देने गया था तभी बाबूलाल लोधी के दरवाजे पर पहले से घात लगा कर बैठे दबंग किस्म के व्यक्ति हिमांशू सिंह कुलदीप व दार सिंह बेवजह मुझ पर प्राणघातक हमला किया किसी तरह जान बचाकर मौके से बच निकला मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में मुकदमा तो पंजीकृत किया गया किन्तु विवेचक एस आई राजेंद्र सिंह आरोपियों से मिल चुके हैं जिस कारण विवेचना को उनके पास से स्थानांतरित किया जाय यदि विवेचना एस आई राजेंद्र सिंह के पास से स्थानांतरित नहीं कि गई तो वो आरोपियों कि ही पैरवी कर मामले में फाइनल रिपोर्ट लगा देंगे पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार को शिकायतीपत्र दे कार्यवाही कि मांग की है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: