देश-विदेश के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुनर हाट

कपिल चौरसिया

आगरा (संज्ञान न्यूज़) ताजगंज में लगे 41वें हुनर हाट को देश ही नहीं बल्कि विदेश से आने वाले लोग भी खूब पसंद कर रहे हैं। हर दिन आगरा और आस-पास के ज़िलों से बड़ी संख्या में आने वाले लोगों के अलावा विदेशी सैलानी भी बड़ी संख्या में हुनर हाट को देखने शिल्पग्राम पहुँच रहे हैं।
हुनर हाट में तरह-तरह के शानदार परम्परागत हस्तनिर्मित स्वदेशी उत्पादनों से सजे स्टॉल तो लोगों को लुभा ही रहे हैं, ख़ास तौर पर बनाये गए 2 फूड कोर्ट के स्टॉल भी लोगों का ध्यान अपनी ओर खिंच रहे हैं। दोनों फ़ूड कोर्ट- “मेरा गांव, मेरा देश” और “बावर्चीखाना” में देश भर के लज़ीज़ पारंपरिक व्यंजनों के करीब 65 स्टॉल लोगों के लिए उपलब्ध हैं जहाँ लगभग हर राज्य के मशहूर पारम्परिक लजीज व्यंजन उपलब्ध हैं जिनका लोग भरपूर लुत्फ़ उठा रहे हैं।


हुनर हाट में कुल्फी, शिकंजी, लस्सी, कुल्हड़ चाय, तंदूरी चाय से लेकर बिहार का लिट्टी चोखा, दिल्ली के छोले भटूरे, राजमा-चावल, हरियाणा की स्पेशल रबड़ी जलेबी, दिल्ली की चाट, राजस्थान का दाल-बाटी चूरमा, महाराष्ट्र का वड़ा पाव, कर्नाटक के पारंपरिक पकवान और अन्य तमाम तरह के लज़ीज़ व्यंजन मौजूद हैं। अगर आप देश भर के अलग अलग राज्यों के पारंपरिक व्यंजनों का स्वाद लेना चाहते हैं तो आपको ये मौका हुनर हाट दे रहा है।
वेज फूड के अलावा नॉन वेज फूड के कई स्टॉल भी हुनर हाट में हैं। नॉन वेज मेन्यू की बात करें तो यहाँ शानदार सीक कबाब, गलाउटी कबाब, मसाला मटन और हैदराबादी बिरयानी बहुत साफ़-सुथरे तरीके से मिल रही है और लोग इसका जी भर के ज़ायका ले रहे हैं।
खास बात ये है कि फूड कोर्ट के हर स्टॉल पर परम्परागत कुशल कारीगरों द्वारा खाना और पकवान तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा आयोजकों की तरफ से साफ-सफाई और बैठ कर खाने की उचित व्यवस्था भी की गई है जिससे किसी को कोई परेशानी न हो। स्टेज के दाहिनी ओर “मेरा गाँव, मेरा देश” नाम से फ़ूड कोर्ट बनाया गया है। दूसरा फ़ूड कोर्ट स्टेज के बाईं तरफ है जिसमें नॉन वेज खाने की बेहतरीन रेंज उपलब्ध है।
अगर क्राफ़्ट की बात करें तो दैनिक ज़रूरत के छोटे-छोटे सामान से लेकर पीतल और अन्य धातुओं की आकर्षक मूर्तियां, लकड़ी का शानदार फर्नीचर, तरह तरह के कपड़ों की एक बड़ी रेंज, आर्टिफिशयल ज्वैलरी, बेंत और बांस से बना खूबसूरत सामान, दुनिया भर में मशहूर कन्नौज का इत्र, राजस्थान की डिजायनर जूतियां, कार्पेट, रॉट आयरन से बना बेहतरीन सामान, ऑर्गेनिक ड्राई फ्लावर्स और अन्य तमाम तरह का सामान बहुत ही सस्ते रेट पर उपलब्ध है।
ये पहला मौका है जब आगरा में हुनर हाट का आयोजन किया जा रहा है लेकिन जिस तरह लोग हुनर हाट आ रहे हैं वो काबिले-तारीफ़ है। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय देश के अलग अलग शहरों में बड़े और भव्य स्तर पर हुनर हाट आयोजित करता है जिसका मक़सद वोकल फ़ॉर लोकल और आत्मनिर्भर भारत अभियान को मज़बूत करना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी के नेतृत्व में हुनर हाट हर जगह अपनी अलग छाप छोड़ रहा है। आगरा से पहले 40 शहरों में हुनर हाट का सफल आयोजन किया जा चुका है और कौशल कुबेरों के कारवां का ये सफ़र आगे भी जारी रहेगा।

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: