1 जून से बैंकिंग और गोल्ड हॉलमार्किंग सहित होंगे ये 6 बड़े बदलाव, इसका आप पर भी होगा सीधा असर

एक जून से देशभर में कई बदलाव होने वाले हैं। इनका सीधा असर आपकी जेब और जिंदगी पर पड़ेगा। इसलिए जरूरी है कि नियमों की जानकारी पहले ही अपने पास रखें। बता दें कि 1 जून से बैंक ऑफ बड़ौदा में चेक से पेमेंट का तरीका बदलने वाला है। हम आपको ऐसे 6 बदलावों के बारे में बता रहे हैं जिनका असर आप पर पड़ेगा।

महंगा हो जाएगा गाड़ियों का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस
1 जून से दोपहिया और चार पहिया वाहनों के साथ अन्य बड़े वाहनों का थर्ड पार्टी बीमा महंगा होने वाला है। यानी, अब आपको थर्ड पार्टी बीमा के लिए ज्यादा प्रीमियम देना होगा। दोपहिया वाहनों के मामले में 150 सीसी से 350 cc तक के वाहनों के लिए 1,366 रुपए बतौर प्रीमियम देना होना, जबकि 350 cc से अधिक के वाहनों के लिए प्रीमियम 2,804 रुपए होगा। 

SBI से होम लोन लेना हो जाएगा महंगा
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट (EBLR) को 40 बेसिस प्वाइंट बढ़ाकर 7.05% कर दिया है, जबकि RLLR 6.65% प्लस क्रेडिट जोखिम प्रीमियम (CRP) होगा। बढ़ी हुई ब्याज दरें 1 जून से प्रभावी होंगी। इससे होम लोन की ब्याज दरों में इजाफा होगा। पहले EBLR 6.65% थी, जबकि रेपो-लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) 6.25% थी।

गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण
सोने की हॉलमार्किंग का दूसरा चरण शुरू होगा। अब 256 पुराने जिलों के अलावा 32 नए जिलों में भी हॉलमार्किंग सेंटर्स खोले जाएंगे। अब इन सभी 288 जिलों में सोने के गहने की हॉलमार्किंग अनिवार्य हो जाएगी। इन जिलों में अब 14, 18, 20, 22, 23 और 24 कैरेट के गहने ही बेचे जा सकेंगे। ये भी हॉलमार्किंग के बाद ही बेच पाएंगे।

एक्सिस बैंक सेविंग्स अकाउंट के नियमों में बदलाव
एक्सिस बैंक ने सेविंग्स अकाउंट पर लगने वाले सर्विस चार्ज को बढ़ाने का फैसला किया है। 1 जून से सेविंग्स अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस रखने की सीमा में बढ़ोतरी की गई है। इसके तहत सेमी अर्बन और ग्रामीण इलाकों के ग्राहकों को एक्सिस बैंक के सभी तरह के सेविंग अकाउंट में 15,000 की जगह न्यूनतम 25,000 रुपए रखने होंगे या फिर 1 लाख रुपए का टर्म डिपॉजिट रखना होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक में लेन-देन पर फीस
जून के महीने से इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) के जरिए लेनदेन करना भी महंगा हो जाएगा। IPPB ने 15 जून से नगद लेन-देन फीस लेने का फैसला किया है। नए नियमों के तहत हर महीने पहले तीन नकद निकासी, नकद जमा और मिनी स्टेटमेंट लेने पर कोई शुल्क नहीं देना होगा हैं। मुफ्त लेन-देन के बाद प्रत्येक नकद निकासी या नकद जमा पर 20 रुपए और जीएसटी लगेगा, जबकि एक मिनी स्टेटमेंट लेन-देन पर 5 रुपए प्लस GST देना होगा।

बदल जाएंगी गैस सिलेंडर की कीमतें
बता दें देश की सरकारी तेल कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को LPG सिलेंडर की कीमतें तय करती हैं। कीमतों में इजाफा भी हो सकता है और राहत भी मिल सकती है। ऐसे में 1 जून को सिलेंडर की कीमतों में बदलाव हो सकता है। इससे पहले 1 मई को 19 किलो वाले कॉमर्शियल LPG सिलेंडर 102 रुपए महंगा हुआ था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: