डीएम से पूछा, जुमे की नमाज के बाद मुरादाबाद में कैसे खराब हुआ माहौल, क्या कार्रवाई की

CM Yogi Adityanath Video Conferencing देर शाम मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंस की। इसमें जिलाधिकारी मुरादाबाद शैलेंद्र कुमार सिंह से शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुए हंगामे को लेकर सवाल किया। घटना के कारण और अब तक हुई कार्रवाई के बारे में जानकारी मांगी।

मुरादाबाद । CM Yogi Adityanath Video Conferencing : देर शाम मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंस की। इसमें जिलाधिकारी मुरादाबाद शैलेंद्र कुमार सिंह से शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुए हंगामे को लेकर सवाल किया। घटना के कारण और अब तक हुई कार्रवाई के बारे में जानकारी मांगी। जिलाधिकारी ने उन्हें बताया कि इस प्रकरण में जिले का माहौल खराब करने के लिए साजिश रचने का मामला सामने आ रहा है। अब तक 25 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

पूछताछ में कई बिंदु सामने आए हैं। अन्य आरोपितों की पहचान कर गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। साजिश करने वालों की भी पहचान के लिए प्रयास हो रहे हैं। जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था बनाए रखने, माहौल खराब करने वालों के खिलाफ सख्ती से निपटने के निर्देश दिए। इसके साथ ही सभी क्षेत्रों में शांति बनाए रखने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने पर जोर दिया।

वायरल वीडियो मुरादाबाद से संबंधित नहीं : इंटरनेट मीडिया पर शनिवार को एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में एक सिपाही कुछ युवकों की बेरहमी से पिटाई कर रहा है। इस वीडियो को मुरादाबाद के मुगलपुरा थाने का बताकर फैलाया जा रहा है। लोग शेयर कर रहे हैं। लेकिन, यह भी जानकारी नहीं है कि वीडियो कहां का है। एसएसपी हेमंत कुटियाल का कहना है कि वीडियो मुरादाबाद से संबंधित नहीं है। मुरादाबाद पुलिस की बेवसाइट पर भी इसका खंडन कर दिया है। फिर भी वीडियो की जांच कराई जा रही है। इसके साथ ही इंटरनेट मीडिया पर निगरानी बढ़ा दी है।

शिकायतों के निस्तारण में मुरादाबाद तीसरे स्थान पर : समन्वित शिकायत निवारण सिस्टम (आइजीआरएस) पर मई में आईं शिकायतों के निस्तारण में मुरादाबाद का प्रदेश में तीसरा स्थान मिला है। जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मई में आइजीआरएस पर आने वाली शिकायतों के निस्तारण की सूची जारी की गई है। इसमें मुरादाबाद को तीसरा स्थान मिला। जिला प्रशासन के साथ ही सभी विभागों ने इस बार जिस प्रकार से कार्य किया था कि प्रथम स्थान प्राप्त करें। पर अन्य दो जिले बेहतर प्रदर्शन कर आगे निकल गए। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार आइजीआरएस पर आने वाले शिकायतों का निस्तारण न केवल समयबद्ध और गुणवत्तापूर्ण निस्तारण किया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि शिकायतों के निस्तारण में लोगों की संतुष्टि स्तर बढ़े।

Leave a Reply

%d bloggers like this: