संस्कारपूर्ण और बहुमुखी शिक्षा से होता है व्यक्तिव का निखार : अरविंद श्रीवास्तव

मुकेश शर्मा

रायबरेली (संज्ञान न्यूज़)। शिक्षा प्राप्त करने का मतलब केवल इतना नहीं है कि, हमें नौकरी मिल जाये, इसका अर्थ सभी को अच्छा व्यक्तित्व बनाना एवं संस्कारिक बनकर जीवन की सभी चुनौतियों का सामना करना है, संस्कारपूर्ण और बहुमुखी शिक्षा से बच्चों मे व्यक्तिव निखार तेजी से बढ़ता है, यह उदगार गूगल एकेडमी कोचिंग संस्थान के उद्घाटन के उपरांत मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहकर राइजिंग चाइल्ड स्कूल के प्रबंधक अरविंद श्रीवास्तव, एडवोकेट ने व्यक्त किए। शहर के देवानंदपुर स्थित गूगल एकेडमी के उदघाटन के उपरांत कोचिंग व्यवस्थापक प्रदीप मौर्य और शिवा श्रीवास ने आए हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि धन के अभाव में किसी भी जरूरतमंद बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं किया जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा बहुत कम शुल्क पर बच्चों को जूनियर हाईस्कूल से लेकर इंटरमीडिएट तक की परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाएगी, उन्होने यह भी बताया कि संस्थान मे व्यक्तिव निखार के साथ ही पांच दिनों की निशुल्क डेमो कक्षाएं भी चलाई जाएंगी। इस मौके पर ललित श्रीवास्तव विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम की व्यवस्था मे विमल पाल, अक्षोभ्य मोहन पाठक, स्वीटी पाल, आशीष कुमार का सहयोग सराहनीय रहा।

Leave a Reply

%d bloggers like this: