गुरुआ में अवैध रूप से संचालित शशिकांत क्लीनिक पर स्वास्थ विभाग का छापा

रंजीत कुमार

गुरुआ।में एक तरफ जहां स्वस्थ विभाग स्वास्थ सुविधाओं की बेहतरीन के लिए तमाम तरह की योजना व सुविधा मुहैया करा रही है।वहीं दूसरी तरफ गुरुआ में संचालित अवैध क्लीनिक व हॉस्पिटल,दवाखाना,यह सब इन योजनाओं को कमजोर करने में लगे हुए हैं।गरीब मजदूर जैसे लोगों से मोटी रकम इन झोला छाप डॉक्टरों के द्वारा इलाज के नाम पर वसूले में लगे हुए हैं।जबकि इन झोला छाप डॉक्टर के पास कोई आधुनिक चिकित्सीय सुविधाएं तथा कोई स्पेसलिट डॉक्टर डिग्री नही है।फिर भी गरीब तत्व के मरीजों को अपने झांसे में लाकर बिना किसी वैध डिग्री के इलाज कर रहे हैं।

वही बीते दिन ढीबरा गांव निवासी मुकेश कुमार की माता के गुरुआ में संचालित शशिकांत निजी क्लीनिक के डॉक्टर के द्वारा गलत इंजेक्शन देने से उसकी गया के एम्स में मौत हो गई थी।इसी घटना को लेकर गुरुआ में संचालित शशिकांत क्लीनिक पर गुरुआ के स्वास्थ विभाग के टीम ने छापेमारी किया।इस टीम की अगुआई चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर तनवीर आलम के अचानक छापे से निजी क्लीनिक के डॉक्टर शशिकांत मौके से फरार हो गया।वही इस बड़ी घटना से अवैध क्ली

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: