गलत इंजेक्शन से मौत के बाद भी अवैध शशिकांत क्लीनिक संचालक पर कोई कार्रवाई नहीं

रंजीत कुमार

गुरुआ।में बीते दस दिन पहले ढीबरा गांव निवासी मुकेश कुमार के मां की मौत गुरुआ के बढ़ी बिगहा में संचालित शशिकांत निजी क्लीनिक के डॉक्टर के द्वारा गलत इंजेक्शन देने से मृत्यु हो गया था।इस घटना को लेकर पीड़ित के परिजनों ने हंगामा करते हुए इसकी लिखित शिकायत गुरुआ के चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर तनवीर आलम को दी थी,इस आवेदन को मिलने के बाद चिकित्सा पदाधिकारी ने उन्होंने अपने टीम के साथ क्लीनिक को जांच करते हुए खानापूर्ति तो की,लेकिन शशिकांत क्लीनिक अवैध तरीके से चलने के बाद भी उनके द्वारा उनपर कोई उचित कानूनी करवाई नही की गई है।उन्होंने बताया की क्लीनिक को जांच करने के बाद क्लीनिक में बीएचएमएस लिखा हुआ पाया गया था।ये अब समझ में नहीं आ रहा है की बीएचएमएस के डिग्री धारी डॉक्टर भी मरीज को ऑपरेशन कर सकते है।

क्योंकि शशिकांत डॉक्टर बीएचएमएस के डिग्री लेकर मरीजों का ऑपरेशन तक कर रहे है।यह बात तो सिविल सर्जन ही जाने।मिडिया के द्वारा शशिकांत डॉक्टर पर सवाल पूछे जाने पर चिकित्सा पदाधिकारी तनवीर आलम ने बताया की यह काम मेरा नही है,बल्कि यह काम थाना प्रशासन का है। सिर्फ पीड़ित परिवार को ढाढस में रखकर उनके द्वारा भरोसा दिलाई जा रही है।इधर करवाई नही होने से शशिकांत निजी क्लीनिक अब बिना डरे सहमे रोज अपनी निजी क्लीनिक संचालित कर रहे हैं। बाबजूद स्वास्थ विभाग गुरुआ के द्वारा अवैध शशिकांत निजी क्लीनिक के खिलाफ करवाई के मामले में काफी पीछे है।इस संबंध में पीड़ित के पुत्र मुकेश कुमार ने बताया कि चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर तनवीर आलम के द्वारा शशिकांत निजी क्लीनिक के खिलाफ जांच की सिर्फ औपचारिकता निभाई है।उन्होंने बताया की क्लीनिक में छापेमरी के बाद अवैध कागजात पाए जाने के बाद भी शशिकांत निजी क्लीनिक के डॉक्टर के विरुद्ध थाने में चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा अब तक एफआईआर दर्ज नहीं करवाया गया है।वही करवाई नही होने से झोला छाप डॉक्टर के क्लीनिक एक बार फिर से शुरू कर दि गई है।पीड़ित मुकेश कुमार ने बताया की अगर चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा अगर हमे उचित न्याय नहीं दिलाया गया तो हमलोग बाध्य होकर बीच सड़क मार्ग को पूरी तरह से जाम कर देगें,जिसकी सारी जिमेबारी गुरुआ के चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर तनवीर आलम की होगी।पीड़ित मुकेश कुमार ने गया के सिविल सर्जन से भी इस मामले में अपने स्तर से टीम गठित कर जल्द दोषी डॉक्टर को उचित कानूनी कारवाई करते हुए,उन्हे गिरफ्तार करने की मांग की है

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: