जमवारामगढ़ में डीएपी खाद की कालाबाजारी की शिकायत। खवारानी जी में ग्रामीणों ने कालाबाजारी को लेकर सीएम को लिखा पत्र


जमवारामगढ़ (जयपुर)
जमवारामगढ़ उपखंड क्षेत्र में बारिश के बाद किसानों को अपनी फसलों के लिए मांग के अनुरूप डीएपी खाद उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। अधिकारियों को किसानों द्वारा भारी मात्रा में डीएपी खाद की कालाबाजारी की शिकायतें मिल रही है। खवारानी जी गांव के किसानों ने किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी द्वारा डीएपी खाद की कालाबाजारी की मुख्यमंत्री को लिखित में शिकायत प्रेषित की। किसानों ने मुख्यमंत्री को प्रेषित शिकायत में अवगत कराया की किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी के मालिक अंकित शर्मा द्वारा किसानों से डीएपी खाद के एक कट्टे का मूल्य निर्धारित मूल्य 1350 रूपए की बजाय 1600 रूपए तक वसूला जा रहा है।

किसानों ने एसडीएम चिमनलाल मीणा एवं सहायक कृषि अधिकारी बहादुर सिंह को भी दूरभाष पर डीएपी की कालाबाजारी की शिकायत की। किसानों की शिकायत पर एसडीएम चिमनलाल मीणा ने सहायक कृषि अधिकारी बहादुर सिंह, हल्का पटवारी खवारानी जी पुनित शर्मा व क़ृषि पर्यवेक्षक मुकेश नटवाडिया को जांच के लिए भेजा। एसडीएम के निर्देश पर जब सहायक कृषि अधिकारी जब किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी पहुंचे तो वहां पर किसानों की भीड इकट्ठा हो गई और जांच टीम को बताया की किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी द्वारा उनको फसल के लिए डीएपी खाद कालाबाजारी करके 1600 रूपए प्रति कट्टे की दर पर बेचा जा रहा है।

गुरूवार दोपहर को 2.00 बजे पहुंची जांच टीम को वहां पर रात के 8.00 बज गए लेकिन कोई हल नहीं निकला। तब सहायक कृषि अधिकारी बहादुर सिंह ने दूरभाष पर एसडीएम को वस्तु स्थिति से अवगत कराया ओर एसडीएम के निर्देश पर सहायक कृषि अधिकारी बहादुर सिंह ने किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी की गोदाम को सीज कर दिया गया ओर उच्चाधिकारियों को सूचना दी। दूसरे दिन शुक्रवार को सहायक कृषि निदेशक भागचंद कुमावत खवारानी जी पहुंचे उनके वहां पर पहुंचते ही किसानों की भीड लग गई।वहां पर उन्होंने मामले की जांच की ओर शिकायकर्ता किसानों के लिखित बयान दर्ज किए।
इनका कहना है खवारानीं गांव के किसान की ओर से *किसान सेवा केन्द्र खवारानी जी के मालिक अंकित शर्मा द्वारा किसानों से डीएपी खाद की कालाबाजारी की शिकायत पर उन्होंने संबंधित किसानों के लिखित में बयान दर्ज कर जांच रिपोर्ट तैयार की है जो एसडीएम जमवरामगढ़ को पेश की जायेगी।
*भागचंद कुमावत*
सहायक निदेशक
कृषि विस्तार शाहपुरा

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: