बाइक से गिरे हुए व्यक्तियों को उठाना पड़ा महंगा।

बचाने वाले व्यक्ति को चुकानी पड़ी भारी कीमत,

कई प्रकार के घर में रखे सामान और पैसे ले गए लूट कर पीड़ित लगा रहा गुहार




रज़ा सिद्दीक़ी

गया (संज्ञान न्यूज) आखिर ऐसा क्यों दरअसल यह मामला बोधगया थाना अंतर्गत छाछ गांव का है जहां दो बाइक सवार व्यक्ति कहीं जा रहे थे, मार्ग में गड्ढे होने के कारण उनकी बाइक अनियंत्रित हो गई और रोड पर गिर पड़े। इस घटना को आंखों से देख रहे व्यक्ति रामभरोसे राउत के बेटे ने बाइक सवारों को उठाने चले गए, भला उनको क्या पता कि बाइक सवार को उठाने में इसका जुर्माना भी मुझे भोगना पड़ेगा। सूत्रों के अनुसार उन्होंने बचाने वाले को गुंडे तबके का व्यक्ति बता कर कहा हमसे बाइक छीनने की कोशिश कर रहे थे। इन्हें बचाकर राम भरोसे राउत के बेटे ने एक नेक काम किया लेकिन इसका परिणाम पूरे फैमिली को भोगना पड़ा। पीड़ित राम भरोसे राउत का कहना है कि करीबन तीन सौ की संख्या में महादलित टोला के लोगों ने मेरे घर पर आकर ईट पत्थर बरसाना शुरू कर दिए। घर के सामान को तितर-बीतर कर कई सामान को चोरी कर भी भाग गए।
वहीं पीड़ित का आरोप है कि जमीन बेचकर घर बनाने के लिए कुछ पैसे रखे थे कुछ कर्ज लिए हुए पैसे थे सारा पैसा लेकर भाग गए । तत्काल इसकी सूचना पीड़ित ने 112 को दीया 112 आई फुटेज वीडियो कवर करके चली गई। पुनः पीड़ित ने एक आवेदन बोधगया थाना को दिया गया, लेकिन बिहार में थाने केवल नाम के होते हैं, 4 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक थाने का कोई कर्मचारी नहीं पहुंचा आखिर किसी की जान बचाना क्या गुनाह है।

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: