सकारात्मक सोच से मानसिक स्वास्थ्य सुरक्षा संभव- डा.निमेश देसाई

आजादी की अमृत गाथा पंचानबेवें आरजेएस कार्यक्रम में प्रफुल्ल भाई -रंजनबेन और डा.ए के मर्चेंट को मिला प्रदाता सम्मान

दीदेवार जीवन ज्योति के सहयोग से आरजेएस ने
विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कार्यक्रम आयोजित किया

नई दिल्ली।
राम जानकी संस्थान परिवार की तरफ से 95 वीं फिजिकल और वर्चुवल आजादी की अमृत गाथा कार्यक्रम का आयोजन दीदेवार जीवन ज्योति हाॅल पटेल नगर दिल्ली में शरद पूर्णिमा और ईद ए मिलादुन्नबी पर आयोजित किया गया । आयोजन विश्व मानसिक स्वास्थय दिवस पर दुनिया और भारत में मानसिक स्वास्थ्य की दशा और दिशा पर किया गया और महापुरुष वाल्मीकि जी, स्वतंत्रता सेनानी जयप्रकाश नारायण,राम मनोहर लोहिया, सैफुद्दीन किचलू, मीराबाई और मुंशी प्रेमचंद आदि को श्रद्धांजलि दी गई।
वेबिनार में साधक डा ओमप्रकाश झुनझुनवाला ने वर्चुअली आमंत्रित अतिथियों का स्वागत किया और मौन ध्यान यज्ञ उद्दीपन ऊर्जा पर प्रकाश डाला। मुख्य अतिथि डा. निमेष देसाई इहबास के पूर्व निदेशक,वरिष्ठ मनोचिकित्सक और मनोविकास चैरिटेबल सोसायटी के प्रेसीडेंट ने संबोधन किया । उन्होने कहा कि आपदा में मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है कोरोना से मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ा है । लोगों पर कोरोना से मानसिक ही नहीं आर्थिक संकट भी आया । उन्होंने फुटपाथ पर रहने वालों का बेहतर इलाज कैसे हो इसके विषय में साधन संपन्न लोगों से अपील की कि कैसे उनकी मदद हो । उन्होंने कहा कोरोना की दूसरी लहर ने लोगों ने अपनों को खोया । उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच से मानसिक स्वास्थ्य सुरक्षा संभव है। डा.ए .के .मचेंट को प्रदाता सम्मान और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने बताया कि हम आठ बिलियन की आबादी होने वाले हैं । नवंबर में आठ बिलियनवाँ बच्चा का जन्म कहाँ होगा ?किस देश में होगा? यह देखना दिलचस्प होगा । सुरजीत सिंह दीदेवार ने अपने संबोधन में प्रकृति के नियम के अनुसार आदमी दो पैरों से ही पैदा होगा । एक कदम उठाने के बाद दूसरा कदम उठाना ही होगा । कवि और समाजसेवी आरजेएस सुंदरम ने कविता सुनाया और किस्सा सुनाया कि ज्योतिष ने पटना के गांधी मैदान में बताया था कि चालीस साल उम्र है। लेकिन अब तिरसठ के हैं. ।यह मन की ताकत के कारण जीते हैं । जानेमाने फार्मासिस्ट प्रफुल्ल डी सेठ और रंजन बेन सेठ का बड़ोदरा, गुजरात से बैठक में पधारने पर शाॅल , आरजेएस का प्रतीक चिन्ह व प्रदाता सम्मान से स्वागत किया गया । सबसे अच्छी बात आरजेएस राष्ट्रीय संयोजक उदय मन्ना और सह-आयोजक दीदेवार जी ने अपने सहायक शोभाराम तथा अंकित का अंगवस्त्र से स्वागत किया । अक्षय जी पूर्व जज साहब ने जाने माने कंज्यूमर पॉलिसी के विशेषज्ञ प्नो. बिजॉन कुमार मिश्रा का स्वागत किया और कहा कि भारत के उपभोक्ताओं के लिया आप भगवान हैं। अक्षय जी प्रो. बिजाँन से पहली दफे मिले, जबकि उसके पहले टीवी पर कई बार उनको देखा -सुना और प्रभावित भी हुए थे । प्रो. बिजॉन मिश्रा जी का हैदराबाद से दिल्ली पधारने पर अंगवस्त्र और बैज पहनाकर स्वागत किया गया। उन्होंने सबके मानसिक स्वास्थ्य के अच्छा रहने की बात की और उदय मन्ना और सभी उपस्थित रहे लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया ।
उन्होंने कहा कि जल्दी ही आजादी की अमृत गाथा शतक लगाने जा रहा है।
अगले रविवार 16 अक्टूबर को भ्रामक विज्ञापन के लिए मजबूत नियमन पर एडवोकेसी की जाएगी जिसके सह-आयोजक कंज्यूमर ऑनलाइन फाउंडेशन,नई दिल्ली है। कार्यक्रम को मो .इसहाक खान, ने भी संबोधित किया । आरजेएस परिवार के संयोजक उदय मन्ना जी ने सफल मंच संचालन किया और आगामी सोलह अक्टूबर 2022 को सुबह 11 बजे वर्चुअल बैठक में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया ।

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: