प्रखंड बाल विकास परियोजना अधिकारियों का हुआ क्षमतावर्धन

सेव द चिल्ड्रेन संस्था द्वारा कार्यशाला का किया गया आयोजन

रज़ा सिद्दीक़ी

बच्चों के सीखने की क्षमता को बेहतर बनाता है अच्छा पोषण

आंगनबाड़ी के बच्चों के सीखने की क्षमता का होगा अनुश्रवण

गया (संज्ञान न्यूज़) गया, 12 अक्टूबर: बच्चों के पोषण व समुचित शारीरिक विकास के साथ उनके आसान तरीकों से सीखने की क्षमता को बढ़ावा देना महत्वपूर्ण है. जिला में बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए समेकित बाल विकास परियोजना विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं. इसमें बाल प्रखंड बाल विकास परियोजना अधिकारियों का नियति प्रशिक्षण भी शामिल है. इस क्रम में बुधवार को बोधगया के निजी होटल में सभी प्रखंडों के सीडीपीओ को प्रशिक्षण दिया गया. प्रशिक्षण सेव द चिल्ड्रेन संस्था द्वारा दिया गया. इस मौके पर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी भारती प्रियमबदा तथा जिला समन्व्यक सबा सुलताना सहित सेव द चिल्ड्रेन की असिसटेंट मैनेजर गजाला शाहीन और प्रखंडों के सीडीपीओ मौजूद रहे.

जिला कार्यक्रम पदाधिकारी ने बताया कि सेव द चिल्ड्रेन संस्था की मदद से सभी प्रखंडों के सीडीपीओ का क्षमतावर्धन किया गया है. बैक टू बेसिक्स प्रोजेक्ट के तहत रेडी टू लर्न फाउंडेशनल लिट्रेसी एवं न्यूम्रेसी विषयक कार्यशाला का आयोजन बुधवार को किया गया. इस कार्यशाला की मदद से सीडीपीओ अपने प्रखंडों में आंगनबाड़ी पर आने वाले बच्चों में साक्षरता बढ़ाने और गणित जैसे विषयों को आसान बनाने के लिए काम करेंगी.

शुरूआती सीखने की क्षमता पर दिया गया प्रशिक्षण:
कार्यशाला के दौरान बच्चों के लिए बनायी गयी नई शिक्षा नियमों पर भी चर्चा की गयी. बच्चों के चार प्रकार के विकास जिनमें मानसिक व शारीरिक विकास शामिल मुख्य हैं, चर्चा की गयी. बताया गया कि कार्यशाला का उद्देश्य सीडीपीओ के क्षमतावर्धन कर बच्चों के शिक्षा, खेलकूद, मनोरंजन और सांस्कृतिक क्रियाकलापों के माध्यम से उनके शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और संवेदनात्मक विकास करना है. कार्यशाला के दौरान बच्चों के शुरूआती सीखने की क्षमता और विकास आदि पर जानकारी दी गयी.

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: