मिर्ज़ा ग़ालिब के नये वोकेशनल बिल्डिंग का हुआ उद्घाटन.कुलपति, रजिस्ट्रार,एक्स डीजीपी और एसएसपी गया ने भी की शिरकत

रज़ा सिद्दीक़ी
…………………………………
गया (संज्ञान दृष्टि) मिर्ज़ा ग़ालिब कॉलेज के चिर प्रतीक्षित नये वोकेशनल बिल्डिंग का भव्य तरीके से उद्घाटन किया गया,जिसमें मगध विश्वविद्यालय के कुलपति, रजिस्ट्रार,एएसएसपी, और एक्स डीजीपी ने शिरकत की.इस अवसर पर कॉलेज के द्वारा तमाम अतिथियों को बुके और मोमेंटो प्रदान किया गया.कार्यक्रम की शुरआत पवित्र क़ुरान के आयत और कॉलेज की छात्राएं ईशिका, स्वाति, समरीन, अंजलि, ऋचा, प्रिया और तन्नू भारती के स्वागत गान से हुई.अपने स्वागत भाषण में कॉलेज के प्रोफेसर इंचार्ज डॉ सरफ़राज़ खान ने कहा कि आपकी मुस्कुराहट वास्तव में हमारी कामयाबी है. उन्होंने कहा कि ये कॉलेज सिर्फ गया ही नहीं बिहार और झारखण्ड के कई स्टूडेंट का पसंदीदा कॉलेज है. उद्घाटन समारोह में अपनी बात रखते हुए मगध विश्विद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ.रवि प्रकाश बबलू ने कहा कि यह कॉलेज मिर्ज़ा ग़ालिब के नाम से है.यह बड़ी बात है.हम चाहते हैं कि हम जिस विश्वविद्यालय में हैं, वहां सबकुछ दुरुस्त हो जाये.उन्होंने कहा कॉलेज में प्रायोजित हंगामे हो रहे हैं.जिससे छात्रों का भविष्य खराब हो रहा है.उन्होंने कहा आज मेरा सम्मान हो रहा है, पर सम्मान पाने के लिए हमें जो काम करना चाहिए,वो नहीं कर पा रहे हैं.उन्होंने कहा कि ये कॉलेज गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई के लिए हमेशा से जाने जाता है.उन्होंने कुलपति से मांग की कि यहां वीमेन स्टडीज की पढ़ाई शुरू की जानी चाहिए.अपनी बात रखते हुए एसएसपी हरप्रीत कौर ने कहा कि कॉलेज लाइफ सबसे अच्छा होता है, मैं हमेशा उन दिनों में लौट जाना चाहती हूं.उन्होंने छात्र -छात्राओं से कहा कि आज आपका किया गया परिश्रम कल की सफलता का रास्ता खोलता है.वहीं एक्स डीजीपी अरुण कुमार शर्मा ने अपने सम्बोधन में बताया कि मैं गया का हूं, मेरे परिवार के लोगों ने मिर्ज़ा ग़ालिब में पढ़ा है, मैं इस कॉलेज की विशेषताओं को जानता हूं. मगध यूनिवर्सिटी बोध गया के कुलपति प्रो.जवाहर लाल ने अपनी बात विस्तार से रखते हुए कहा कि मैं मगध विश्वविद्यालय का शिक्षक भी रहा हूं.मुझे अपनी संस्था से हमेशा से लगाव रहा है.दो विश्वविद्यालय का कुलपति होने के बावजूद मेरा ज़्यादा समय इसी यूनिवर्सिटी में बीतता है.हम रात दिन कोशिश कर रहे हैं कि छात्रों की समस्या जल्द हल हो.मैं इसके लिए शिक्षा मंत्री से भी मिल कर आया हूं.उन्होंने कहा कि कॉलेज में नर्सिंग की भी पढ़ाई होनी चाहिए.उन्होंने कहा कि सिर्फ बिहार में हर साल लगभग चालीस हज़ार नर्स की ज़रूरत पड़ती है, इसलिए ये विशेषकर छात्राओं के लिए कारगर सिद्ध होगा.उन्होंने इस कॉलेज में बीएड और फैशन डिज़ाइन कोर्स करने का भी सुझाव दिया, और कहा कि इसकी मान्यता के लिए वो पूरा प्रयास करेंगे.इस अवसर पर तमाम अधिकारियों ने इस बिल्डिंग निर्माण में कॉलेज के सचिव शबी आरफीन शमसी की इस कार्य के लिए भूरी-भूरी प्रशंसा की.
कार्यक्रम में कॉलेज से संबंधित एक पुस्तिका का भी लोकार्पण किया गया.इस पूरे कार्यक्रम का कुशलतापूर्वक संचालन डॉ. सरवत शमसी ने किया .इस कार्यक्रम को सफल बनाने में उप प्राचार्य डॉ.शुजाअत अली खान, डॉ.काशिफ मंसूर, डॉ.सारिम अब्बास,डॉ. नुसरत जबीं सिद्दीकी, फज़लुर रहमान, डॉ.जावेद खान,आफ़ताब अहमद खान, मेंहदी, नूर,हन्ज़ला, सईद अख्तर और कॉलेज के मीडिया प्रभारी डॉ.जियाउर रहमान जाफरी आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही.कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन उप प्राचार्य शुजाअत अली खान ने दिया.

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: