बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रशासनिक टीमों ने बांटी राहत किट

लखीमपुर खीरी 17 अक्टूबर। सोमवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह के निर्देश पर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रशासनिक टीमों ने संबंधित उप जिलाधिकारी व तहसीलदार के नेतृत्व में प्रभावितों को युद्धस्तर पर बाढ़ राहत सामग्री की किट का वितरण सुनिश्चित कराया।

डीएम महेंद्र बहादुर सिंह स्वयं प्रतिदिन बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत इंतजामों, ब्लीचिंग का छिड़काव, हेल्थ कैंप एवं दवा वितरण, पशु राहत चिकित्सा कैंप सहित बाढ़ राहत सामग्री कीट के वितरण की समीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने अफसरों का स्पष्ट निर्देश दिए कि कोई भी प्रभावित परिवार प्रशासन की मदद से वंचित न रहे, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए।

फसलों के नुकसान की भी होगी भरपाई
डीएम ने कहा कि आंशिक क्षतिग्रस्त मकानों के लिए भी आपदा राहत कोष से मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बाढ़ के कारण फसलों को जो नुकसान हुआ है, उसके लिए निर्देश दिया है कि हर प्रभावित ग्राम पंचायत में सर्वे कराकर जल्द से जल्द फसलों की क्षतिपूर्ति की धनराशि किसानों के खातों में भेजी जाए।

बाढ़ग्रस्त इलाकों में प्रशासन ने बाटी राहतकिट
तहसील गोला गोकर्णनाथ के बाढ़ग्रस्त इलाके में एसडीएम अनुराग सिंह के नेतृत्व में राजस्व विभाग की टीमों ने कोरियाना मजरा रूरा सुल्तानपुर में सभी प्रभावित परिवारों को बाढ़ राहत खाद्यान्न किट प्रदान की। प्रशासनिक टीमों ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि कोई भी प्रभावित परिवार खाद्यान्न किट से वंचित नहीं रहेगा। एसडीएम सदर श्रद्धा सिंह के नेतृत्व में तहसील सदर एवं विकासखंड फूलबेहड़ के बाढ़ग्रस्त क्षेत्र जदीदपुरवा, इच्छारामपुरवा एवं लंगडीपुरवा में 760 प्रभावित परिवारों को खाद्यान्न किट वितरित की गई।

बाढ़ पीड़ितों को बांटी यह राहत सामग्री
“बाढ़ पीड़ितों को दी जा रही राहत सामग्री किट में 10 किलो चावल, 10 किलो आटा, 02 किलो अरहर दाल, आधा किलो नमक, 250 ग्राम हल्दी, 250 ग्राम मिर्च, 250 ग्राम धनिया, एक लीटर रिफाइंड तेल, 05 किलो लाई, 02 किलो भूना चना, 01 किलो गुड़, 10 पैकेट बिस्कुट, एक पैकेट माचिस, एक पैकेट मोमबत्ती, दो नहाने का साबुन शामिल है।” इसके अलावा 10 किग्रा आलू (जालीदार पैकेट में) वितरित की।

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: