पीएम आवास के नाम पर मांगे पैसा तो वीडियो बनाकर करें शिकायत : डीएम

डीएम ने की पीएम आवास योजना (शहरी) की समीक्षा, दिए निर्देश

प्रांजल श्रीवास्तव धर्मेश शुक्ल की खास रिपोर्ट

लखीमपुर खीरी 05 नवम्बर। शनिवार को डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने कलेक्ट्रेट में प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी की गहन समीक्षा की एवं संबंधित को जरूरी निर्देश दिए।

योजना की समीक्षा करते हुए डीएम ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना- शहरी वर्तमान में अंतिम चरण में है एवं लक्ष्य फ्रीज हो चुका है परन्तु अभी भी संवेदनशील एवं अति कमजोर वर्ग के कुछ लोग योजना के लाभ से वंचित रह गये है। इस संबंध में सूडा से प्राप्त निर्देशों के अनुक्रम में आफलाइन आवेदनपत्रों के माध्यम से वरीयताओं को निर्धारित किया गया है। जिनका निस्तारण योजना की गाइड लाइन के अनुरूप किया जायेगा ताकि इस वर्ग के लोग योजना के लाभ से वंचित न रह जाये।

डीएम ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) योजना के लाभार्थियों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय की भी बृहद समीक्षा की। डीएम ने कहा कि पीएम आवास योजना (शहरी) पूर्णतः निःशुल्क योजना है। इस योजना में किसी भी स्तर पर लाभार्थी को कोई भी धनराशि नहीं अदा की जानी है। आवेदन एवं अन्य कार्यो हेतु किसी भी व्यक्ति द्वारा कोई भी धनराशि की गॉंग किये जाने पर तत्काल पुलिस को सूचित करें एवं उक्त की सूचना/वीडियों जिलाधिकारी, अपर जिलाधिकारी को अथवा परियोजना अधिकारी, डूडा, खीरी को उनके मोबाइल नम्बर 8583002293 पर उपलब्ध कराए।

एडीएम संजय कुमार सिंह ने बताया कि प्रस्तावित प्रक्रिया के अंर्तगत प्राप्त आवेदनों को वरीयता क्रम 1 से 5 के आवेदन प्राप्त होते है, तो उन आवेदनों को उपरोक्त हार्ड बाइण्ड किये गये आवेदन पत्रों के साथ सम्मिलित कर डोर-टू-डोर वैलिडेशन कराते हुए वैलिडेंशन में पाए गए पात्र आवेदकों को वरीयता क्रम के अनुसार सम्बन्धित निकाय के एसडीएम की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा पात्रता एवं वरीयताक्रम का पुनः सत्यापन किया जायेगा। ऐसे लाभार्थी जिनके पास आवास निर्माण हेतु स्वयं की भूमि है, जिनका भारत वर्ष में कहीं भी स्वयं का आवास नहीं है एवं जिनकी समस्त स्रोतों से वार्षिक आय रूपया तीन लाख से अधिक नहीं है, इच्छुक लाभार्थी सभी अभिलेखों सहित किसी भी कार्यदिवस में डूडा कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है।

पीओ (डूडा) डॉ अजय कुमार सिंह ने आफलाइन आवेदनपत्रों के माध्यम से निर्धारित वरीयताओं की जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में विधवा/परित्यक्ता/तलाकशुदा/निराश्रित एकल महिला आवेदकों को पहली वरीयता। दिव्यांग/ कुष्ठ रोगी आवेदकों को दूसरी वरीयता, ट्रांसजेण्डर आवेदकों को तीसरी वरीयता, अनुसूचित जाति/जनजाति के आवेदकों को चौथी वरीयता, कच्चें घर वाले आवेदक, जिनके निकटतम सम्बन्धियों को यथा पिता/पुत्र व पुत्री, माता/पुत्र व पुत्री में से किसी ने इस योजना अथवा केन्द्रीय/राज्य सरकार की किसी आवासीय योजना में लाभ प्राप्त न किया हो।

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: