दो दिवसीय भ्रमण पर खीरी पहुंची राज्यपाल, अफसरों ने किया स्वागत

बीसी सखी व प्रगतिशील किसानों से किया संवाद

प्रांजल श्रीवास्तव, स्पर्श सिन्हा

लखीमपुर खीरी ( संज्ञान दृष्टि/न्यूज़)। रविवार को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अपने दो दिवसीय भ्रमण के लिए हेलीकॉप्टर से जनपद खीरी पहुंची, जहां पुलिस लाइन हेलीपैड पर डीएम महेंद्र बहादुर सिंह, एसपी संजीव सुमन ने पुष्प गुच्छ देकर उनका स्वागत किया। इस दौरान विधायक सदर योगेश वर्मा एवं खीरी सांसद प्रतिनिधि अरविंद संजय ने भी पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया।

राज्यपाल ने पुलिस लाइन में गारद की सलामी ली। इसके बाद उनका काफिला कलेक्ट्रेट के लिए रवाना हुआ। जहां उन्होंने कलेक्ट्रेट सभागार में अफसरों का परिचय प्राप्त किया, जहां डीएम एसपी ने पुष्पगुच्छ देकर उनका प्रशासन की ओर से अभिनंदन किया।

राज्यपाल ने किया बीसी सखी व प्रगतिशील किसानों से संवाद
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बीसी सखी पिंकी देवी एवं शबनम से संवाद किया। उन्होंने जाना कि उनके द्वारा कितना लेनदेन किया गया और उसके सापेक्ष उन्हें कितना कमीशन प्राप्त हुआ। वार्तालाप के दौरान पिंकी ने बताया कि उसका काम बहुत ही बेहतर चल रहा है। राज्यपाल ने कहा कि बीसी सखी समय-समय पर प्राप्त होने वाले कमीशन को चेक करते रहें। अपने इस काम को जारी रखते हुए आगे बढ़े।

इसके बाद उन्होंने तथास्तु एफपीओ प्रतिनिधि प्रहलाद वर्मा से संवाद किया। राज्यपाल के पूछने पर उन्होंने बताया कि 706 किसान उनके इस एफपीओ से जुड़े है। जिसमें 256 महिला किसान शामिल हैं। सरकार से काफी सहायता मिली है। ₹200 लाख वार्षिक टर्नओवर है। वह गेहूं के बीज तैयार करने का काम में लगे है। राज्यपाल ने कहा कि रोटी के आटे में अन्य खाद्यान्न मिलाकर कई प्रोडक्ट तैयार करें और आगे बढ़े। आप अच्छा काम कर रहे है। प्रगतिशील किसान यदुनंदन पुजारी ने बताया कि कृषि विविधीकरण का काम न केवल स्वयं करते हैं बल्कि लोगों को भी प्रशिक्षण देने का काम में लगे है। प्रगतिशील किसान अचल मिश्रा ने गन्ना खेती के बारे में अपने अनुभव बताएं। वर्तमान में प्राकृतिक गुड बनाने के काम में लगे हैं। गुड वाला के नाम से प्रोडक्ट भी लांच किया। लगातार दो बार यूपी सरकार ने गन्ना उत्पादन में सर्वश्रेष्ठ उत्पादन हेतु सम्मानित किया। प्रगतिशील किसान बबीता देवी ने बताया कि वह जैविक खेती से लहसुन पैदा करके उसका अचार बनाने के काम में लगी है। इस कार्य में 300 महिलाएं उनसे जुड़ी हैं। प्रगतिशील किसान कमलजीत ने केला, लीची उत्पादन में तकनीकी इस्तेमाल से फुली ऑटोमेटिक पर खेती का काम कर रहे हैं। तपन कुमार विश्वास ने गो आधारित प्राकृतिक खेती करते हुए जीवामृत, घनजीवामृत बनाने का काम किया। उनसे 97 छोटे किसान काश्तकार जुड़े हैं। उन्होंने जीरो बजट खेती के लिए अपने प्रयास बताएं।

राज्यपाल ने पीएम आवास के लाभार्थियों को बाटी चाभियां, खिले चेहरे

क्षय रोगियों के अभिभावकों को राज्यपाल ने प्रदान की किट, किया संवाद

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के 05 लाभार्थियों को प्रतीकात्मक चाबी प्रदान कर सम्मानित किया। उनके हाथों से चाबी पाकर लाभार्थियों के चेहरे पर खुशी का ठिकाना ना रहा। प्रधानमंत्री जी के आवाहन, राज्यपाल के मार्गदर्शन में प्रशासन द्वारा गोद लिए गए क्षय (टीबी) रोगियों के अभिभावकों को राज्यपाल ने किट प्रदान किया। राज्यपाल ने रोगियों के अभिभावकों से बातचीत कर उनकी बच्चे की कुशल क्षेम जानी तथा उन्हें उपचार के दौरान नियमित पौष्टिक आहार व आराम लेने की सलाह दी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: