राज्यपाल ने किया वार्षिकोत्सव समारोह का शुभारंभ

प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर में हुआ भव्य कार्यक्रम

प्रांजल श्रीवास्तव, मनोज वर्मा

लखीमपुर ( संज्ञान दृष्टि)। नेपाल से सटे जंगल क्षेत्र चंदन चौकी में विद्या भारती द्वारा संचालित जन शिक्षा समिति अवध प्रदेश के प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसका शुभारंभ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण, पुष्पार्चन एवं दीप जलाकर किया।

राज्यपाल के अलावा क्षेत्रीय मंत्री विद्या भारती पूर्वी जय प्रताप सिंह, प्रदेश निरीक्षक जन शिक्षा समिति अवध प्रदेश राज कुमार सिंह, विद्यालय अध्यक्ष फूल सिंह राणा प्रबंधक सलिल अग्रवाल प्रधानाचार्य बलदेव श्रीवास्तव मंचासीन रहे। विद्यालय की बालिकाओं ने मां सरस्वती की वंदना प्रस्तुत की। इसके बाद राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ।

गवर्नर ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जनपद भ्रमण के दौरान थारू संस्कृति देख कर मन को प्रसन्नता हुई। केंद्र एवं प्रदेश सरकार के साथ-साथ विद्या भारती ने भी गांव-गांव तक शिक्षा की अलख जगाने के लिए विशेष प्रयास किए हैं। यहां के बच्चों का कला कौशल स्मार्टनेस देखकर मन प्रफुल्लित हो उठा। यहां के बच्चों की राइटिंग इतनी सुंदर है कि शायद अफसर की भी राइटिंग न होगी। मैं स्वयं शिक्षिका रही हूं, इतना सुंदर लेखन केवल थारू जनजाति में ही दिखा है। सपने देखने की आदत डालिए। खेल, शिक्षा, चीज वस्तु बनाने में यहां के बच्चे आगे बढ़ रहे। यह मेरे लिए और भारत के लिए गर्व की बात है। आपका भविष्य उज्जवल हो। पीएम सोचते हैं कि अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक सुविधाओं का लाभ कैसे पहुंचे, इस लक्ष्य को लेकर सरकार काम कर रही हैं।

उन्होंने कहा कि सर्वाइकल कैंसर महिलाओं में बड़ी संख्या में हो रहा है। महिलाएं बोलती नहीं है, मर्ज आगे बढ़ जाता है। साल में एक बार ब्रस्ट एवं सर्वाइकल कैंसर की जांच जरूर कराएं। गर्भाशय के कैंसर के लिए वैक्सीन है इसलिए नववर्ष से 14 साल तक की बालिकाएं वैक्सीन अवश्य लगवाएं। उन्होंने प्रशासन को निर्देश दिए कि प्रशासन कैंप लगाकर इसे सुनिश्चित कराए।

उन्होंने कहा कि पूरे भारत में पीएम के नेतृत्व में टीवी मुक्त अभियान चल रहा है। आसपास के बच्चों को गोद लेकर टीबी मुक्त कराए। समूह के महिलाएं अच्छा काम करते हुए आत्मनिर्भर बन रही। उन्होंने क्षेत्रवासियों को आश्वस्त किया कि थारू क्षेत्र के विकास के लिए वह हर संभव प्रयास करेंगी।

थारू बालिकाओं की कंप्यूटर शिक्षा के लिए राज्यपाल ने दी 20 कंप्यूटर की सौगात

अब जंगल में थारू जनजाति के बच्चे भी सीखेंगे कंप्यूटर

राज्यपाल ने किया कंप्यूटर कक्ष का उद्घाटन

लखीमपुर खीरी 21 नवंबर। जनपद मुख्यालय से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नेपाल से सटे जंगल क्षेत्र चंदन चौकी में विद्या भारती द्वारा संचालित जन शिक्षा समिति अवध प्रदेश के प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर में थारू जनजाति के छात्र-छात्राओं को कंप्यूटर शिक्षा प्रदान करने के लिए कंप्यूटर लैब का उद्घाटन उप्र की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने किया। इस दौरान

राज्यपाल ने कार्यक्रम का शुभारंभ करते थारू जनजाति की प्रतिभावान छात्राओं से मुलाकात की, उनके प्रतिभा के बारे में जाना और मुझे बहुत प्रसन्नता हुई, मेरे द्वारा कंप्यूटर भवन की पूरे यूनिट की धनराशि दी गई। बताते चलें कि जिले के सुदूरवर्ती चंदन चौकी में संचालित प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर में कंप्यूटर लैब स्थापित करने के लिए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 5.25 लाख की धनराशि माह मई में भेजी। विद्यालय में 20 कंप्यूटर राज्यपाल की ओर से स्थापित कराए, वही विद्यालय प्रबंधन द्वारा 17 कंप्यूटर लगाए।

राज्यपाल ने किया “सभ्यताओं की प्रस्तावनाएं जनजातिया” नामक पुस्तिका का विमोचन
सोमवार को प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने “सभ्यताओं की प्रस्तावनाएं जनजातिया” नामक पुस्तक का विमोचन किया, जो सर्वेश कुमार त्रिपाठी व नीरज कुमार सिंह द्वारा मिलकर तैयार की गई। पुस्तक में थारू जनजाति की सभ्यताओं को उल्लेखित एवं रेखाकित किया गया। पुस्तक विमोचन कराने में अहम भूमिका संभाग निरीक्षक कैलाश चंद्र वर्मा ने निभाई।
राज्यपाल ने किया पौधरोपण
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रताप नारायण मिश्र स्मारक सरस्वती विद्या मंदिर के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम से पहले विद्यालय परिसर में आम के पौधे का रोपण किया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: