मारुति वन अप और टाटा एआईजी की मिली भगत से मारुति के ग्राहकों से

नमन श्रीवास्तव

लखनऊ ( संज्ञान न्यूज़)| राजधानी लखनऊ में अवैध रूप से वसूला जा रहा है धन लगातार आ रही शिकायत का संज्ञान लेने के उद्देश्य भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद से श्री सौरभ श्रीवास्तव जी ने अपनी ब्रीज़ा कार up32 kh 4181 जो कि 06 दिसम्बर 2018 मॉडल की गाड़ी है, जिसका जीरो डेप्थ इंश्योरेंस है, को क्लेम के लिये बालागंज oneup के बॉडी शॉप में 10 नवंबर को दिया, 22 नवंबर,2022 को गाड़ी को देने की बात कही गयी one up के अधिकारियों द्वारा परन्तु गाड़ी रेडी न होने की बात 23 24 नवंबर तक कि जाती रही, जब 25 नवंबर को फ़िर से फीडबैक लिया गया तो पता चला कि one up की ओर से गाड़ी रेडी है परंतु इंश्योरेंस कंपनी d o ऑर्डर नही दे रही है,सर्वेयर मोहम्मद आरिज़ को फ़ोन करने पर पता चलता है

कि ncb(नो क्लेम बोनस) इंश्योरेंस कंपनी की ओर से 35% दे दिया गया था जबकि गाड़ी मालिक सौरभ श्रीवास्तव सिर्फ़ 25% के हकदार थे, ज़ीरो डेप्थ में नटबोल्ट के 971 rs के कवर के साथ इंश्योरेंस होने के बावजूद गाड़ी को ncb के कारण पिछले 6-7 दिनों से गाड़ी नही दी जा रही थी, उक्त प्रकरण में ध्यान देने वाली बात ये है कि 1 बार ज़ीरो डेप्थ क्लेम इसी इंश्योरेंस में पहले लिया जा चुका है, बावजूद इसके उस क्लेम में किसी भी 10% एक्स्ट्रा क्लेम का कोई ज़िक्र नही मिला था, इस बार मोहम्मद आसिफ़ 7311112006 mohammad asif survey executive ने बड़ी ही बत्तमीजी से बात करते हुए 35% देने के लिए कहा और साथ ही ज्यादा दिक्कत हो रही हो तो फुल पेमेंट करने की बात रखी, उनकी बात को जब श्री श्रीवास्तव ने उनके उच्च अधिकारी श्री प्रोमित चटर्जी
9643826607
Mr. Promit Chatterjee tata aig
से संपर्क किया तो उन्होंने भी 35% चार्ज देने को कहा।
One up 7800005200 santosh shukla cgm oneup, के अधिकारियों ने बिना पेमेंट के गाड़ी को बंधक बना के रखा है,
उक्त प्रकरण में सीधे तौर पर ग्राहक से किसी न किसी रूप में अवैध वसूली की जा रही है जबकि नियमतः रुपये 1000 फाइल चार्ज के अलावा किसी प्रकार का भुगतान नही बनता है।
उक्त प्रकरण के सभी अधिकारियों one up व टाटा aig के दोनों अधिकारियों का नम्बर व जरूरी कागजात संलग्न किया जा रहा है

Leave a Reply

You may have missed

%d bloggers like this: